Migraine : Causes, Symptoms, Types and Prevention

migraine causes symptoms and prevention

1. माइग्रेन क्या है ?

माइग्रेन सिरदर्द का एक ऐसा रूप है जो बार-बार लगातार होता रहता है । यह दर्द कभी भी हो सकता है और काफी लंबा टाइम तक चलता है । माइग्रेन का दर्द सिर के सिर्फ आधे हिस्से में ही महसूस होता है , इसलिए इसे अधकपारी भी कहा जाता है । [ Wikipedia ]

2. कारण :

  • तनाव भरी ज़िंदगी
  • नींद की कमी
  • काम का ज्यादा दबाव रहना
  • बहुत अधिक कैफीन लेना
  • अत्यधिक थकान
  • लंबे वक्त तक भूखे पेट रहना
  • धूम्रपान
  • मोबाइल , कंप्यूटर या लैपटॉप का ज्यादा इस्तेमाल
  • हमारे रोज का व्यस्त जीवनशैली भी माइग्रेन का कारण बन सकता है ।

3. लक्षण :

  • सर के आधे हिस्से में तेज दर्द महसूस करना
  • दर्द के साथ उल्टी होना
  • दर्द के दौरान , किसी भी चीज को देखने में तकलीफ होना
  • रोशनी की तरफ देखते हुए आंखों में दर्द का अनुभव
  • माइग्रेन के दौरान , आंखों की पलकें ऊपर-नीच करते वक्त दर्द होना
  • ज्यादा शोर से परेशानी
  • बार-बार पेशाब आना
  • आंखों में जलन की अनुभूति होना
  • सिर दर्द बढ़ने के साथ-साथ गर्दन का भी दुखना
  • बार-बार प्यास लगना
  • माइग्रेन से पीड़ित व्यक्ति में , साइनस की प्रॉब्लम भी नजर आने लगते हैं
  • थकान महसूस होता है , लेकिन फिर भी नींद सही से नहीं होता

4. माइग्रेन के विभिन्न प्रकार :

[a] आभा के साथ माइग्रेन [ जटिल माइग्रेन ] : लगभग एक चौथाई लोग इस तरह माइग्रेन का अनुभव करते हैं । इसमें व्यक्ति आभा का अनुभव करते हैं । यह दृश्य परिवर्तनों की एक श्रृंखला है , जिसमे काले डॉट्स देखने से लेकर शरीर के एक तरफ सुन्नता या स्पष्ट रूप से बोलने में अक्षमता तक हो सकती है। आभा , माइग्रेन के पहले या बाद में सेट होती है, और 15 – 30 मिनट तक कहीं भी रह सकती है ।

[b] आभा के बिना माइग्रेन [ सामान्य माइग्रेन ] : इस तरह के माइग्रेन के लक्षण में , सिर के आधे हिस्से में दर्द , फोटोफोबिया , फेनोफोबिया , मतली और उल्टी दिखाई देता है ।

[c] बिना सिर दर्द के माइग्रेन : इस प्रकार का माइग्रेन बहुत ही खतरनाक हो सकता है , क्योंकि इसमें आपको चक्कर आना , दृश्य गड़बड़ी, मतली और माइग्रेन के अन्य चरणों का अनुभव होता है , लेकिन सिर में दर्द नहीं होता है।

[d] हेमर्टेजिक माइग्रेन : जिन लोगों में इस प्रकार के माइग्रेन का अनुभव होते हैं , वे शरीर के एक तरफ कमजोरी महसूस करते हैं , अक्सर दृश्य आभा लक्षण और शरीर के एक तरफ सनसनी होता है । यह कुछ घंटों से लेकर कई दिनों तक रह सकता है । हेमर्टिजिक माइग्रेन में हमेशा गंभीर सिर दर्द शामिल नहीं होता है।

[e] रेटिना माइग्रेन : अगर आपको सिरदर्द के साथ एक आंख में अस्थायी रूप से दृष्टि खोने लगे , तो यह रेटिना माइग्रेन है। अपने बच्चे के जन्म के दौरान महिलाओं में सबसे आम है, अंधापन एक मिनट से लेकर महीनों तक रह सकता है , यह एक विशिष्ट प्रकार की आभा है जो एक माइग्रेन के साथ होती है , और यह एक ऐसी स्थिति है जिसके बारे में हम बहुत कम जानते हैं।

[f] क्रोनिक माइग्रेन : यदि महीने में 15 दिन से अधिक आपको सिरदर्द होता है , तो आप शायद पुरानी माइग्रेन से पीड़ित हैं । कभी कभी सिर में दर्द में काफी परिवर्तन आ सकता है। क्रोनिक माइग्रेन वाले कई रोगी प्रति माह 10-15 दिनों से अधिक समय पर सिरदर्द के दवाओं का उपयोग करते हैं, और इसमें वास्तव में और भी अधिक सिरदर्द हो सकता है।

[g] बर्फ का सरदर्द : इसमें व्यक्ति को ऐसा लगता है , कि सिर में बर्फ का छुरा घोंपा जा रहा हैं । यह दर्द अक्सर एक तीव्र , तेज दर्द पहुंचाते हुए अचानक आते हैं । आमतौर पर यह दर्द केवल 5-30 सेकंड तक रहता है , लेकिन अविश्वसनीय रूप से दर्दनाक होता है । ये सिरदर्द आपके सिर की ऑर्बिट , टेंपल और पार्श्विका क्षेत्र पर महसूस होते हैं।

[h] क्लस्टर का सिर दर्द : यह सबसे गंभीर प्रकार के दर्द में से एक है । क्लस्टर सिरदर्द के साथ, आप अपनी आंखों के ऊपर और अपने टेंपल में , और यहां तक ​​कि अपने सिर के पीछे की ओर दर्द महसूस करेंगे।

[i] सरवाइकलोजेनिक सिरदर्द : यह दर्द आमतौर पर गर्दन से या रीढ़ पर एक घाव से आता है , जिस में अक्सर ऐसा लगता है , कि दर्द सिर के पीछे हो रहा है। इस प्रकार के सिरदर्द के लिए दवा या अन्य उपचार के अलावा शारीरिक उपचार की आवश्यकता होती है।

5. निवारण :

➣ अपने खाने पीने की चीजों में खास ध्यान दें , जो चीज खाने से दर्द की अनुभती हो उसे छोड़ने की कोशिश करें ।

➣ अधिक मात्रा में चाय या कफी का सेवन ना करें , और अगर करते हैं तो उसे एक ही बार में छोड़ने की कोशिश मत करें , धीरे-धीरे छोड़े ।

➣ नियमित रूप से भोजन ग्रहण करें ।

➣ खाली पेट कभी मत रहिए , भूख लगने से तुरंत कुछ खा लीजिए ।

➣ अपने तनाव को कम करने की कोशिश करें । इसे करने के लिएं आप व्यायाम कर सकते हैं, ध्यान लगा सकते हैं , उन लोगों के साथ समय बिता सकते हैं जिन्हें आप प्यार करते हैं, और उन चीजों को करते हैं जिनका आप आनंद ले सके ।

➣ नींद की कमी और थकान के कारण माइग्रेन की संभावना बहुत हद तक बढ़ जाती है । इसलिए अपनी आंखों को नियमित रूप से आराम देने की कोशिश करें । इसके लिए आप रोजाना 15 – 20 मिनट आंखों को बंद करके आराम करें , या फिर आंखों के ऊपर खीरे की टुकड़े डालकर कुछ समय के लिएं लेट जाए

➣ अगर आप लंबे समय तक टीवी देखते हैं , या मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं , या फिर घंटों तक कंप्यूटर और लैपटॉप के सामने बैठ के काम करते हैं , तो अपनी इस आदत पर थोड़ा सा रोक लगाने की कोशिश करें । कंप्यूटर या लैपटॉप के सामने काम करते समय कभी-कभी ब्रेक लेना चाहिएं ।

➣ अगर आप माइग्रेन के दर्द से पीड़ित है , या फिर दर्द का थोड़ा बहुत लक्षण आप में दिखता है तो धूम्रपान और शराब से दूरी बनाए रखना आपके लिए सही होगा ।

➣ अपने आपको हमेशा ऊर्जावान रखें ।

➣ अपने पूरे दिन की काम का एक सूची पत्र बना ले और उसके अनुसार काम को करें ।

 

***[ Read More : How To Cure Migraine Permanently Naturally ]

Spread the Love :
error: Content is protected !!