Kidney Stones : Types, Causes and Symptoms

kidney stones causes and symptoms

1. गुर्दे की पथरी क्या हैं ?

गुर्दे की पथरी मूत्र में लवण से बने एक कठोर , क्रिस्टलीय खनिज पदार्थ है , यह क्रिस्टल मूत्र में उपस्थित अन्य तत्वों को आकर्षित करके एक ठोस बनाते है । यह गुर्दे या मूत्र पथ के भीतर बनना शुरू होता है । जब यह ठोस बड़ा हो जाते है तो , मूत्र के प्रवाह को अवरुद्ध कर सकती है । कभी कभी पथरी मूत्र के मध्यम से बाहर निकल जाता है , नही तो गुर्दे में रहके , गुर्दे की क्षति या यहां तक ​​कि गुर्दे की विफलता का कारण भी बन सकती है । [ Wikipedia ]

2. कारण :

  • शरीर में पानी की कमी होना ।
  • नमक का अधिक सेवन पथरी का कारण बन सकता है ।
  • गुर्दे की पथरी बनाने में आपका आहार एक बड़ी भूमिका निभा सकता है । कई स्वस्थ खाद्य पदार्थों और सब्जियों में ऑक्सालेट मौजूद होता है। ऑक्सालेट एक एैसा रसायन है जो कैल्शियम के साथ मिलके पथरी बना सकता है ।
  • गुर्दे की पथरी तब बनती है जब आपके मूत्र में अधिक क्रिस्टल बनाने वाले पदार्थ होते हैं – जैसे कैल्शियम, ऑक्सालेट और यूरिक एसिड ।
  • किडनी स्टोन तब बन सकता है जब आपका पेशाब बहुत अधिक अम्लीय होता है ।
  • किडनी रोग , कैंसर या एचआईवी के इलाज के लिए उपयोग की जाने वाली दवाएं भी इसके कारण बन सकता हैं ।

3. लक्षण :

गुर्दे की पथरी होने पर आप इन संकेतों और लक्षणों का अनुभव कर सकते है  :

  • पसलियों के नीचे और पीठ में एक तेज़ दर्द ;
  • दर्द जो निचले पेट और कमर में विकीर्ण होता है ;
  • दर्द जो लहरों में आता है और तीव्रता में उतार-चढ़ाव होता है ;
  • पेशाब करने पर दर्द होना ;
  • मूत्र में रक्त ;
  • बदबूदार या दुर्गंधयुक्त पेशाब ;
  • मतली और उल्टी ;
  • सामान्य से अधिक बार पेशाब करना ;
  • अगर पेशाब संक्रमित हो जाएं तो कंपकंपी, पसीना और बुखार आना ।

4. प्रकार :

[a] कैल्शियम ऑक्सालेट पत्थर : गुर्दे की पथरी का सबसे आम प्रकार कैल्शियम ऑक्सालेट है । यह कैल्शियम से बनता है । जिसमें ऑक्सालेट और फॉस्फेट शामिल हैं । यह तब बनता है , जब मूत्र में साइट्रेट और कैल्शियम के उच्च स्तर , या तो ऑक्सालेट या यूरिक एसिड होते है । कुछ चिकित्सा स्थितियां भी कैल्शियम के उच्च स्तर को जन्म देती है ।

[b] यूरिक एसिड पथरी : यूरिक एसिड एक अपशिष्ठ है , जो मूत्र के माध्यम से सामान्य रूप से शरीर से बाहर निकल जाता है । शरीर में पर्याप्त तरल पदार्थ ना होने के कारण , यूरिक एसिड शरीर से बाहर नहीं जा पाता , और पथरी का रूप ले लेता है । उच्च प्रोटीन युक्त आहार भी यूरिक एसिड पथरी का कारण बन सकता है ।

[c] स्ट्रुवाइट पथरी : स्ट्रुवाइट पथरी मूत्रमार्ग में होने वाले संक्रमण के कारण बनता है । यह पत्थर जल्दी बढ़ सकते हैं , और गुर्दे, मूत्रवाहिनी या मूत्राशय को अवरुद्ध कर सकती है । यह आमतौर पर महिलाओं में अधिक दिखाइ देता है ।

[d] सिस्टीन पथरी : सिस्टीन पथरी सिस्टिनुरिया नामक एक वंशानुगत आनुवंशिक विकार के कारण बनता है । यह मूत्र में अमीनो एसिड सिस्टीन की अत्यधिक मात्रा का कारण हो सकता है।
इसके फलस्वरूप गुर्दे , मूत्राशय और मूत्रवाहिनी में पथरी बन सकती है ।

5. पथरी होने का जोखिम कारक :

  • रीर में पानी की कमी ;
  • आनुवंशिक ;
  • कुछ खाद्य पदार्थ जैसे – उच्च प्रोटीन, चीनी और सोडियम ;
  • मोटापा ;
  • पाचन रोग ;
  • वजन घटाने की सर्जरी ;
  • चिकित्सा की कुछ स्थिति जैसे: गुर्दे की ट्यूबलर एसिडोसिस, सिस्टिनुरिया, हाइपरपरथायरायडिज्म और मूत्र पथ के संक्रमण।
error: Content is protected !!