Uric Acid : Causes, Symptoms and Prevention

uric acid causes symptoms and prevention

बढ़ती उम्र के साथ, लोगों को अक्सर गठिया और उसमें दर्द व सूजन की शिकायत होती है। और हमारी कुछ गलत आदतें और गलत आहार भी इस समस्या को बढ़ा सकते हैं। आमतौर पर, शरीर में यूरिक एसिड का स्तर बढ़ने पर इस प्रकार की समस्याएं ज्यादा देखने को मिलता है। [ Wikipedia ]

 

यूरिक एसिड क्या है ?

पाचन प्रक्रिया के दौरान जब प्रोटीन टूटता है, या जब शरीर मे प्यूरीन न्यूक्लिओटाइडों टूट जाती है, तब यूरिक एसिड बनता है। यह मूत्र का एक सामान्य घटक भी है। यूरिक एसिड एक कार्बनिक यौगिक है, जो कार्बन, हाईड्रोजन, आक्सीजन और नाईट्रोजन जैसे तत्वों से बना होता है। यह शरीर को प्रोटीन से अमीनो एसिड के रूप में मिलता है।

यूरिक एसिड बढ़ने के कारण :

  • भोजन के दौरान लिए जाने वाले प्रोटीन प्युरीन यूरिक एसिड की मात्रा को बढ़ाता है ।
  • अनुवांशिक कारण भी यूरिक एसिड को बढ़ावा देते है।
  • शरीर में आयरन की अत्यधिक उपस्थिति यूरिक एसिड का कारण बन सकती है।
  • गुर्दे के माध्यम से सीरम यूरिक एसिड के कम उत्सर्जन के कारण रक्त में इसकी मात्रा बढ़ जाती है।
  • वक्त पर खाना नही खाना, या वजन घटना भी यूरिक एसिड को बढ़ावा देता है।
  • डायबिटीज़ और पेशाब बढ़ाने वाली दवाओं के उपयोग से यूरिक एसिड बढ़ सकता है।
  • थायराइड की अधिकता या कमी के कारण भी यूरिक एसिड में वृद्धि होती है।
  • शराब और मादक पदार्थों के सेवन से भी यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है।
  • हाई ब्लड प्रेशर भी यूरिक एसिड बढ़ने का एक कारण है।
  • अगर आपका वजन बढ़ने लगता है, तो यूरिक एसिड बढ़ने की संभावना भी बढ़ जाती है।

लक्षण :

  • हाथों की उंगलियों, अंगूठों के जोड़ो में हल्की हल्की चुभन जैसा दर्द महसुस होना
  •  पैरों की उंगलियों, टखनों और घुटनों में दर्द हो, तो यह यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने का संकेत है।
  • शरीर में, बहुत अधिक यूरिक एसिड जोड़ों में जमा होते है , और गाउट का रूप ले लेता है। इसमें दर्द, सूजन, लालिमा और स्पर्श के दौरान कोमलता होती है।
  • कई लोगों को लगता है कि संयुक्त “गर्म” है।
  • हाथ और पैर की उंगलियों, कोहनी और हाथों में टोफी ( त्वचा के नीचे बनने वाले क्रिस्टलीकृत यूरिक एसिड की गांठ ) वनना।
  • ज्यादा देर बैठने पर या उठने में पैरों एड़ियों में सहनीय दर्द।
  • शुगर लेवल बढ़ना।
  • गर्दे की पथरी ( यूरिक एसिड गुर्दे की पथरी में विकसित हो सकता है )
  • पीठ, पेट, और कमर के क्षेत्र में गंभीर दर्द होना।
  • तेज बुखार, ठंड लगना।
  • मतली और उल्टी।
  • मूत्र में रक्त की आशंका
  •  पेशाब करने में समस्या होना।

शरीर में यूरिक एसिड को कम करने के कुछ तरीके :

 

1. खाने में फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ खाएं : अपने आहार में फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ, जैसे ओट्स, दलिया, पालक, ब्रोकोली आदि को शामिल करें। पदार्थों का सेवन यूरिक एसिड की मात्रा को नियंत्रित करने में सहायक है।

 

2. अधिक पानी पिएं : दिन में कम से कम 10-12 गिलास पानी पिए, ऐसा करने से रक्त में मौजूद अतिरिक्त यूरिक एसिड मूत्र के द्वारा शरीर से बाहर निकल जाएगा।

 

3. क्षारीय भोजन : यूरिक एसिड की मात्रा को कम करने के लिए, अपने आहार में क्षारीय सामग्री की मात्रा बढ़ाएँ। खीरा, अनार, नींबू, दलिया, मूली, गाजर और बिना पॉलिश किए गए फल , सब्जि आदि का सेवन करे।

 

4. आहार में विटामिन सी को शामिल करें : अगर आप शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा कम करना चाहते हैं, तो अपने आहार में विटामिन सी युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करें। कुछ ही महीनों में यूरिक एसिड कम होने लगेगा।

 

5. जैतून के तेल का उपयोग करें : जैतून के तेल में विटामिन ई भरपूर मात्रा में होता है, जो शरीर के लिए बहुत लाभदायक होता है। यह खाने को पोषक तत्वों से भरपूर बनाने के साथ साथ यूरिक एसिड को कम करने मे भी मदद करता है।

 

6. आइस क्यूब का इस्तेमाल : यदि दर्द बहुत अधिक हो, तो बर्फ को किसी कपड़े में भरकर दर्द वाली जगह पर लगाना फायदेमंद होता है।

Spread the Love :
error: Content is protected !!